भारतीय संविधान के विदेशी स्त्रोत ( Foreign Sources of Indian Constitution) Part- 2

भारतीय संविधान के विदेशी स्त्रोत ( Foreign Sources of Indian Constitution)

भारतीय संविधान के विदेशी स्त्रोत ( Foreign Sources of Indian Constitution)- भारत के संविधान का निर्माण 10 देशो के संविधान से प्रमुख तथ्य लेकर बनाया गया है। भारत का संविधान विश्व का सबसे बड़ा लिखित संविधान है भारतीय संविधान पर सबसे अधिक प्रभाव भारतीय शासन अधिनियम 1935 का है, दोस्तों आज हम भारतीय संविधान के विदेशी स्त्रोत ( Foreign Sources of Indian Constitution) के बारे में जानेंगे
भारतीय संविधान के विदेशी स्त्रोत ( Foreign Sources of Indian Constitution)
भारतीय संविधान के विदेशी स्त्रोत ( Foreign Sources of Indian Constitution)

भारतीय संविधान के विदेशी स्त्रोत ( Foreign Sources of Indian Constitution)

1. संयुक्त राज्य अमेरिका- 
  1. मौलिक अधिकार
  2. न्यायिक पुनरावलोकन
  3. संविधान की सर्वोच्चता
  4. न्यायपालिका की स्वतंत्रता
  5. निर्वाचित राष्ट्रपति एवं उस पर महाभियोग
  6. उपराष्ट्रपति उच्चतम एवं उच्च न्यायालयों के न्यायाधीशों को हटाने की विधि
2. ब्रिटेन- 
  1. संसदात्मक शासन-प्रणाली
  2. एकल नागरिकता एवं विधि निर्माण प्रक्रिया.
3. आयरलैंड-

  1. नीति निर्देशक सिद्धांत
  2. राष्ट्रपति के निर्वाचक-मंडल की व्यवस्था
  3. राष्ट्रपति द्वारा राज्य सभा में साहित्य, कला, विज्ञान तथा समाज-सेवा इत्यादि के क्षेत्र में ख्यातिप्राप्त व्यक्तियों का मनोनयन
4. ऑस्ट्रेलिया-

  1. प्रस्तावना की भाषा
  2. समवर्ती सूची का प्रावधान
  3. केंद्र और राज्य के बीच संबंध एवं शक्तियों का विभाजन
5. जर्मनी

  1. आपातकाल के प्रवर्तन के दौरान राष्ट्रपति को मौलिक अधिकार संबंधी शक्तियां
 6. कनाडा

  1. संघात्‍मक विशेषताएं अवशिष्‍ट शक्तियां केंद्र के पास, राज्यपाल की नियुक्ति, सघ तथा राज्य के बीच शक्ति का विभाजन
7. दक्षिण अफ्रीका

  1. संविधान संशोधन की प्रक्रिया प्रावधान
8. रूस

  1. मौलिक कर्तव्यों का प्रावधान
9. जापान




No comments:

Post a Comment